Friday, June 21, 2019

क्षमा (Forgiveness)

क्षमा का दान सबसे बड़ा दान है | वास्तव में क्षमा का जीवन में क्या महत्त्व है ? क्षमा कौन कर सकता है ? क्षमा का क्या लाभ है ? क्षमा करने वाले को क्या प्राप्त होता है ? क्षमा न करने से क्या हानि होती है ? क्षमा किसे करना चाहिए और किसे नहीं ? इन सभी प्रश्नों का शास्त्र - सम्मत विश्लेषण किया है हमारे मनीषियों एवं विश्वविख्यात चिन्तको ने |

Forgiveness is the biggest donation. In fact what is the significance of forgiveness in life? Who can forgive me? What is the benefit of forgiveness? What does the forgiver receive? What is the loss of forgiveness? Who should forgive and not? The science of all these questions has been analyzed by our intellectuals and world renowned thinkers.

जो क्षमा करता है और बीती बातों को भूल जाता है, उसे ईश्वर की ओर से पुरस्कार मिलता है | - क़ुरान 

⇒ जो मनुष्य नारी को क्षमा नही कर सकता, उसे उसके महान गुणों का उपयोग करने का अवसर कभी प्राप्त न होगा | - खलील जिब्रान 

⇒ जिसने पहले कभी तुम्हारा उपकार किया हो, उससे यदि भारी अपराध हो जाये तो भी पहले के उपकार स्मरण करके उस अपराधी को तुम्हे क्षमा कर देना चाहिए | - वेदव्यास 

⇒ दान को सर्वश्रेष्ठ बनाना है तो क्षमादान करना सीखो | - चार्ल्स बक्सन

⇒ क्षमा में जो महत्ता है, जो औदार्य है, वह क्रोध और प्रतिकार में कहाँ ? प्रतिहिंसा हिंसा पर ही आघात कर सकती है, उदारता पर नहीं | - सेठ गोविन्ददास 

⇒ जिसे पश्चाताप न हो उसे क्षमा कर देना पानी पर लकीर खींचने की तरह निरर्थक है | - जापानी लोकोक्ति

⇒ संसार में ऐसे अपराध कम ही हैं जिन्हें हम चाहें और क्षमा न कर सके | - शरतचन्द्र 

⇒ जो लोग बुराई का बदला लेते हैं, बुद्धिमान उनका सम्मान नहीं करते, किन्तु जो अपने शत्रुओं को क्षमा कर देते हैं, वे स्वर्ग के अधिकारी समझे जाते हैं | - तिरुवल्लुवर 

⇒ न तो तेज ही सदा श्रेष्ट है और न क्षमा ही  |- वेदव्यास

⇒ क्षमा मनुष्य का सर्वश्रेष्ठ तथा सर्वोच्च गुण है, क्षमा दण्ड देने के समान है | - बेरन

⇒ दुष्टों का बल हिंसा है, राजाओं का बल दण्ड है और गुणवानों का क्षमा है | - महाभारत

⇒ क्षमा धर्म है, क्षमा यज्ञ है, क्षमा वेद है और क्षमा शास्त्र है | जो इस प्रकार जानता है, वह सब कुछ क्षमा करने योग्य हो जाता है | - वेदव्यास 

⇒ संसार में मानव के लिए क्षमा एक अलंकार है | - बाल्मीकि 

⇒ क्षमा तेजस्वी पुरुषों का तेज है, क्षमा तपस्वियों का ब्रह्म है, क्षमा सत्यवादियों का सत्य है | क्षमा यज्ञ है और क्षमा मनोविग्रह है | - वेदव्यास 

क्षमा (Forgiveness)
क्षमा (Forgiveness)

Share This
Previous Post
Next Post
Gaurav Hindustani

My name is Gaurav Hindustani. I am web designer by profession, but I am author by heart so Hindustani Kranti is a platform for all Authors and poets who write GOLDEN words and have special stories and poetries. You can send any time your words to me at gauravhindustani115@gmail.com.

0 comments: