Thursday, June 20, 2019

भलाई

कहावत है कि 'कर भला, तो भला' | कुछ लोग इसे कोरी कहावत मानते हैं किन्तु यह शाश्वत सत्य है | जिन्हें शंका हो वे आजमा कर देख सकते हैं | स्वार्थवश किया गया कार्य भलाई नहीं | भलाई के सही मायने क्या हैं - आइये जानें  | 

बुरे आदमी के साथ भी भलाई ही करनी चाहिए | रोटी का एक टुकड़ा डालकर कुत्ते का मुँह बन्द कर देना चाहिए |  - शेख़ सादी

⇒ जैसे एक छोटे से दीप का प्रकाश बहुत दूर तक फैलता है, उसी तरह इस बुरी दुनिया में भलाई बहुत दूर तक चमकती है | - शेक्सपियर

⇒ भले बनकर तुम दूसरों की भलाई का कारण बन जाते हैं | - सुकरात 

⇒ जो भलाई करने का सदा प्रयत्न करता है, वह मनुष्य और परमेश्वर दोनों की कृपा प्राप्त करता है | पर जो बुराई की तलाश में रहता है, उसको बुराई ही मिलती है | - नीति वचन 

⇒ जो दूसरों की भलाई करता है वह अपनी भलाई स्वयं कर लेता है | परिणाम में नहीं वरन कर्म करने में ही क्योंकि सुकर्म का भाव ही एक यथेष्ठ पारितोषक है | - सेनेका 

⇒ जो दूसरों की बुराई करते हैं, वे ख़ुद निन्दित होते हैं | - ऋग्वेद

⇒ भगवान् तुम्हारे पदक, डिग्री या सर्टिफिकेट से नहीं जांचेगा, अपितु उन जख्मों के निशानों से जाँचेगा, जो तुम्हारे शरीर भलाई के लिए बने | - एल्बर्ट हुब्बार्ड्स

⇒ मनुष्य जब संसार से जाता है तो भलाई या बुराई ही साथ ले जाता है | - कबीर 

⇒ मानव की भलाई करने के अतिरिक्त और अन्य किसी कर्म द्वारा मनुष्य ईश्वर के इतने निकट नहीं पहुँच सकता | - सिसरो 

⇒ जिसमे उपकार वृत्ति नहीं, वह मनुष्य कहलाने का अधिकारी नहीं | - महात्मा गाँधी 

⇒ भली बातें कड़वी होती हैं, किन्तु उनके कड़वेपन का स्वागत करना चाहिए | क्योंकि उनमें  भलाई निवास करती है | - भर्तृहरि

 ⇒ जो भलाई से प्रेम करता है वह देवताओं की पूजा करता है, आदरणीयों का सम्मान करता है और ईश्वर के समीप रहता है | इमर्सन 

⇒ जो मनुष्य जगत की जितनी भलाई करेगा, उसको ईश्वर की व्यवस्था से उतना ही सुख प्राप्त होगा | - दयानन्द सरस्वती 

⇒ भलाई का मार्ग भय से पूर्ण है, परन्तु परिणाम अत्युत्तम है | - सुदर्शन 

⇒ जो मेरे साथ भलाई करता है, वह मुझे भला होना सिखा देता है | - फुलर 

⇒ पुष्प की सुगन्ध वायु के विपरीत कभी नहीं जाती, परन्तु मानव के सदगुण की महक सब तरफ फ़ैल जाती है | - गौतम बुद्ध 

भलाई
भलाई

Share This
Previous Post
Next Post
Gaurav Hindustani

My name is Gaurav Hindustani. I am web designer by profession, but I am author by heart so Hindustani Kranti is a platform for all Authors and poets who write GOLDEN words and have special stories and poetries. You can send any time your words to me at gauravhindustani115@gmail.com.

0 comments: