Saturday, February 2, 2019

बेवफाई के दौर में ...( Ghazal )

बेवफाई के दौर में ...
हमने वफा का चलन कर दिया ।

लिखी थी जुदाई तेरे - मेरे प्यार में,
फिर भी हमने मिलन कर दिया ।

था भी नहीं मैं इक टुकड़ा जमी का,
तुमने छू कर गगन कर दिया ।

मुर्झा गये थे कंवल मेरे अधर से ,
तुमने आकर चमन कर दिया ।

मर ही चुका था मैं एक जनम में
पर तुमने इक और जनम कर दिया ।

.
.
.
.
.

 गौरव हिन्दुस्तानी

#Ghazal, #Geet, #Love, #Emotions



बेवफाई के दौर में ...




Share This
Previous Post
Next Post
Gaurav Hindustani

My name is Gaurav Hindustani. I am web designer by profession, but I am author by heart so Hindustani Kranti is a platform for all Authors and poets who write GOLDEN words and have special stories and poetries. You can send any time your words to me at gauravhindustani115@gmail.com.

0 comments: