Saturday, February 2, 2019

अँधेरा मिट जायेगा ...( Ghazal )

अँधेरा मिट जायेगा जीवन का,
सूरज सी अगन तो पैदा कर ।

चिंगारियाँ उम्मीदों की पनपेंगी जरुर,
किस्मतों के पत्थरों में रगड़ तो पैदा कर ।

मंजिलें तेरी मुट्ठी में होंगी,
चाह का छोटा सा समन्दर तो पैदा कर ।

राहों के कांटें सब मखमल हो जायेंगे,
नंगें पाँव चलने की हिम्मत तो पैदा कर ।

आसमां  के सितारे बेशख टूटेंगे,
ज़हन में शिद्दत से ख्वाहिश तो पैदा कर ।

बुत भी खूबसूरत चेहरे होंगे,
कारीगरी का खुद में हुनर तो पैदा कर ।

राधा बैठेगी ओढ़े चुनरी तेरे आंगन में,
प्रेम बाँसुरी के स्वर में गोपाला, धुन तो पैदा कर ।

बहुत आसाँ है दौलत-शौहरत कमाना “गौरव”
अपनी रूंह में इक मुफलिस तो पैदा कर ।

.
.
.
.

 गौरव हिन्दुस्तानी

#Ghazal, #Love, #Motivational


अँधेरा मिट जायेगा ...

Share This
Previous Post
Next Post
Gaurav Hindustani

My name is Gaurav Hindustani. I am web designer by profession, but I am author by heart so Hindustani Kranti is a platform for all Authors and poets who write GOLDEN words and have special stories and poetries. You can send any time your words to me at gauravhindustani115@gmail.com.

0 comments: