Saturday, October 27, 2018

वैलेंटाइन का उपहार (Valentine day gift)

उनके मिलने का अंदाज निराला लगा
वो मिले हमसे ऐसे जैसे
अंधरे से उजाला मिला |

आँखों में दीदार लिए
होंठो पे इजहार लिए
वो मिलने आई हमसे
वैलेंटाइन का उपहार लिए |

जो देखा उनको
कुछ निखर गये थे हम
पाकर उपहार उनसे
खुशबू सा बिख़र गये थे हम |

कुछ पल वो हमे देखती रहीं
शायद कुछ कहना चाहती थी हमसे
प्यार का तीर दिल से पार कर गयी जब
जाते जाते आई लव यू कहा था हमसे |

उनके मिलने का अंदाज निराला लगा
वो मिले हमसे ऐसे जैसे
अंधरे से उजाला मिला |

unke-milne-ka-andaj-hindustani-kranti

Share This
Previous Post
Next Post
Gaurav Hindustani

My name is Gaurav Hindustani. I am web designer by profession, but I am author by heart so Hindustani Kranti is a platform for all Authors and poets who write GOLDEN words and have special stories and poetries. You can send any time your words to me at gauravhindustani115@gmail.com.

0 comments: